Friday, 25 January 2013

झंडा बेच कर देश मनाता है गणतंत्र

झंडा बिकता है ,
पर किसको दिखता है ,
देश का गौरव तरसता है,
पैसे के बीच कसकता है ,
सैनिको के खून से रंग कर ,
बाज़ार में वो दरकता है ,
झंडा बिकता है ,
पर किसको दिखता है ...............................................आइये बाज़ार से एक झंडा खरीद लाये ..........................गणतंत्र क्या है सबको बताये

3 comments:

  1. गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  2. प्रभावशाली ,
    जारी रहें।

    शुभकामना !!!

    आर्यावर्त
    आर्यावर्त में समाचार और आलेख प्रकाशन के लिए सीधे संपादक को editor.aaryaavart@gmail.com पर मेल करें।

    ReplyDelete
  3. प्रचलन जो है मनाने का ..
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं......

    ReplyDelete